Tuesday, April 28, 2020

PM Swamitv Yojana | स्वामित्व योजना 2020

स्वामित्व योजना ( Swamitv Yojana) 2020

PM Swamitv Yojana | स्वामित्व योजना 2020
PM Swamitv Yojana


क्या है स्वामित्व योजना ( What is Swamitv Yojana ) ?

स्वामीत्व योजना  और नवीनतम सर्वेक्षण विधियों का उपयोग करके ग्रामीण आबाद भूमि का नक्शा बनाने में मदद करती है। 
यह योजना सुव्यवस्थित योजना, राजस्व संग्रह सुनिश्चित करेगी और ग्रामीण क्षेत्रों में संपत्ति के अधिकार पर स्पष्टता प्रदान करेगी। 

इससे मालिकों द्वारा वित्तीय संस्थानों से ऋण के लिए आवेदन करने के रास्ते खुल जाएंगे। संपत्ति से संबंधित विवादों को भी इस योजना के माध्यम से आवंटित उपाधियों के माध्यम से सुलझाया जाएगा।

  1 .पीएम नरेंद्र मोदी ने लॉन्च की स्वामित्व योजना 2020  स्कीम हैं।
  2 .उन्होंने राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर लॉन्च की थी।
  3 .इस योजना के माध्यम से ड्रोन के माध्यम से जमीन की पैमाइश की जाएगी।

स्वामित्व योजना ( Swamitv Yojana) के ई-ग्राम स्वराज पोर्टल :-

स्वामित्व योजना 2020
स्वामित्व योजना 2020

कोरोना वायरस संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को सभी ग्राम पंचायतों के प्रमुखों को संबोधित किया. पंचायती राज दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री ने नए ई-ग्राम स्वराज पोर्टल और ऐप की शुरुआत की थी।

इस पोर्टल के जरिए ग्राम पंचायतों की समस्या, उनसे जुड़ी जानकारी एक जगह पर मौजूद रहेगी. यहां अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना संकट से हमें सबक मिला है कि अब आत्मनिर्भर होना काफी जरूरी है।


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वामित्व योजना( Swamitv Yojana ) का शुभारंभ किया

स्वामित्व योजना( PM Swamitv Yojana ) से ग्रामीणों को लाभ होंगे?

  1. पंचायती राज दिवस (Panchayati Raj Diwas) के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने 'स्वामित्व योजना' (Swamitva scheme) की शुरू की थी
  2.  स्वामित्व योजना से देश के गांवों में लोगों को उनकी आवासीय जमीन का मालिकाना हक दिया जाएगा।
  3. किसानों समेत गांव वालों को उनकी जमीन का हक दिलाने के लिए नई तकनीकों का इस्तेमाल किया जाएगा।
  4. गांवों में जमीन की पैमाइश के लिए ड्रोन की मदद ली जाएगी.
  5. मोदी सरकार की 'स्वामित्व स्कीम' से गांव वालों की तकदीर बदलेगी।
  6. गांव की आवासीय संपत्ति पर बैंक नहीं देते थे लोन योजना से ग्रामीणों को एक नहीं कई लाभ होंगे। 
  7. इससे आवासीय संपत्ति को लेकर भ्रम और झगड़े खत्म होंगे। 
  8.  गांव में विकास योजनाओं की योजना में मदद मिलेगी। सबसे बड़ा फायदा ये है कि अब तक गांव की आवासीय संपत्ति पर बैंक लोन नहीं देते थे। अब इस स्कीम के बाद शहरों की तरह गांवों में भी आप बैंको से लोन ले सकते हैं। यानी मूल प्रमाण पत्र के जरिए आप बैंक से लोन ले सकते हैं।

किसानों को उनकी ज़मीन का हक़ मिलेगा, जानें 'स्वामित्व योजना के फायदे :-

 स्कीम का आपको क्या फायदा होगा?

संपत्ति पर तो आपका मालिकाना हक पहले से ही है और प्रमाण पत्र के नाम पर आपके पास कुतुंब रजिस्टर में दर्ज आपका और परिवार के सदस्यों का नाम दर्ज है। 

बता दें कि गांव की खेती की जमीन का रिकॉर्ड खसरा-खतौनी में तो होता है, लेकिन, गांवों की आवासीय संपत्ति का मालिकाना हक के आधार पर कोई रिकॉर्ड नहीं है। यह स्कीम के माध्यम से यह हर आवासीय संपत्ति की पैमाइश कर मालिकाना हक सुनिश्चित करेगा।

पंचायती राज दिवस के मौके पर स्कीम लॉन्च की गई :-

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा कई ऐसे कार्य किए जा रहे हैं, जिससे लोगों को उनके हक के साथ उनका फायदा मिल सके। आए दिन सरकार किसानों और ग्रामीण विकास में बहुत योगदान करती है। ऐसे में पंचायती राज दिवस के मौके पर शुक्रवार को महान स्कीम लॉन्च की गई है।

इस स्कीम के अंतर्गत देश के सभी गांव में खोजने के माध्यम से गांव की संपत्ति की मैपिंग की जाएगी, जिसके बाद गांव के लोगों को उस संपत्ति का मालिकाना प्रमाण पत्र दिया जाएगा।

ई-ग्राम स्वराज पोर्टल और मोबाइल एप्लिकेशन क्या है?

  • सरकार द्वारा इस स्कीम को लॉन्च करते हुए साथ ही इस स्कीम के तहत एक और सहायता उपलब्ध की जिसका नाम ई-ग्राम स्वराज पोर्टल और मोबाइल एप्लीकेशन है। पंचायती राज दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने इस यूनिफाइड ग्राम स्वराज पोर्टल और मोबाइल एप लॉन्च किया।
  • इसके माध्यम से पंचायतों को अपने ग्राम पंचायत विकास योजना तैयार करने और लागू करने के लिए सिंघल प्लेटफॉर्म प्राप्त हो जाएगा, जिससे उन्हें सरकारी दफ्तरों के चक्कर नहीं काटने होंगे।
  • वहीं मोबाइल ऐप के माध्यम से ग्राम पंचायतों के फंड उसके कामकाज की पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। 
  • इसके साथ ही ग्रामीण कार्यों पर प्रगति बढ़ जाएगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि इसको रोना संकट ने दिखाया है कि देश के गांव में रहने वाले लोगों ने इस दौरान अपने संस्कारों की परंपराओं की शिक्षा के दर्शन कराए हैं।

राज्यों में उत्पत्ति योजना की पायलट शुरुआत:-

यूपी, महाराष्ट्र, कर्नाटक हरियाणा, मध्य प्रदेश और उत्तराखंड में इस योजना को प्राथमिक तौर पर शुरू किया जा रहा है। काम करेंगे तो अनुभव करेंगे, गलतियाँ क्या हैं?
जब इसमें सुधार हो जाएगा तो ये योजना हिंदुस्तान के हर गांव में लागू की जाएगी।


e-Gram Swaraj Portal Mobile App 



  1. ई-ग्राम स्वराज पोर्टल मोबाइल ऐप डाउनलोड @ egramswaraj.gov.in | प्रधानमंत्री स्वच्छ योजना 2020: हमारे प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर जो 24 अप्रैल को हर कोम में मनाया जाता          है, भारतीय ग्रामीणों के विकास के लिए एक नया पोर्टल लॉन्च किया है जो ई-ग्राम स्वराज ऐप है।
  2. ई-ग्राम स्वराज पोर्टल और एप्लीकेशन मै भारत के सभी राज्यों के ग्रामीण क्षेत्र की जानकारिया उपलब्ध रहेगी।
  3. बजट प्लानिंग की जानकारी, बजट की जानकारी और उसकी देखभाल सहित तमाम जानकारिया उनके पोर्टल मै मौजूद रहेंगे।
  4. मध्यम से केंद्र सरकार को ग्राम पंचायतो के लिए योजना लागू और तैयार करना और आसान हो जायगा।
  5.  ई ग्राम स्वराज पोर्टल ग्राम पंचायतों को डिजिटल बनाने के लिए एक कदम है


Learn more about  scheme

1 comment: